Mata Vaishno Devi Yatra 2021:- जय माता दी, 7 अक्टूबर 2021 से शारदीय नवरात्र शुरू हो रहे हैं, जिसकी वजह से माता वैष्णो देवी के दरबार में यात्रियों की बहुत ज्यादा भीड़ होने वाली है। यदि ऐसे में आप भी माता वैष्णो देवी की तीर्थ यात्रा पर जाने का प्लान बना रहे है तो आपको कुछ जरुरी नियमो को जानना होगा। तभी आप माता रानी के दर्शन कर सकते है। आज के इस लेख में हम आपको माता वैष्णो देवी की यात्रा से जुड़े उन सभी नियमो के बारे में बताने वाले है, इस लेख को अंत तक जरूर पढ़े।

Mata Vaishno Devi Yatra 2021

माता वैष्णो देवी की यात्रा ऐसे करे

जम्मू के कटरा में स्थित वैसे तो माता वैष्णो देवी के दरबार में हमेशा ही भक्तो की भीड़ लगी रहती है लेकिन जब नवरात्रो का समय आता है तो यहां पर बहुत भारी मात्रा में भक्तो की भीड़ उमड़ती है जैसे की आप सभी को पता है की 7 अक्टूबर 2021 से माता रानी के शारदीय नवरात्र शुरू हो रहे हैं। और इस दौरान यहां पर यात्री बहुत ज्यादा मात्रा में आने वाले है कोरोना की महामारी को देखते हुए श्राइन बोर्ड ने यात्रियों के लिए कुछ नयी गाइडलाइन जारी की है जो भी यात्री इनकी गाइडलाइन के तहत नियमो को पूरा नहीं करेंगे उनको माता वैष्णो देवी के दरबार में एंट्री नहीं मिलेगी। अगर आप भी अपने परिवार या फिर दोस्तों के साथ माता विष्णो देवी की यात्रा पर जाने का प्लान बना रहे है तो आपको इन नियमो को जानना बहुत जरुरी है।

यह भी पढ़े – वैष्णो देवी मंदिर का इतिहास और महिमा

माता वैष्णो देवी की यात्रा पर जाने के नियम

1. Covid-19 RTPCR Negative Report (कोरोना टेस्ट रिपोर्ट)

अगर आप देश के किसी भी राज्य से माता वैष्णो देवी के दर्शन करने के लिए कटरा आ रहे है तो सबसे पहले अपने साथ कोरोना टेस्ट की RTPCR Negative Report जरूर लाये, जो की 24 घंटो से ज्यादा पुरानी न हो कियोंकि 24 घंटो से ज्यादा पुरानी रिपोर्ट मान्य नहीं होगी। फिर भी जो यात्री काफी दूर से आ रहे है। और उनकी रिपोर्ट 24 घंटे से ज्यादा पुरानी हो जाती है, तो उनका कोरोना टेस्ट कटरा में दोबारा होगा। रिपोर्ट मिलने के बाद ही आपको यात्रा पर जाने दिया जायेगा। यात्रियों की ज्यादा भीड़ होने की वजह से आपका काफी समय लग सकता है। वही जिन यात्रियों ने अभी तक एक भी वैक्सीन नहीं लगवाई या फिर एक वैक्सीन लगवाई है। उनको भी अपने साथ RTPCR Negative Report लेजानी होगी। और जिन यात्रियों ने 15 दिन पहले अपनी दोनों वैक्सीन लगवाली है फिर उनको किसी भी प्रकार की कोई Report नहीं चाहिए, बस उनको अपने साथ दोनों वैक्सीन वाला सर्टिफिकेट लेकर जाना होगा।

Mata Vaishno Devi Yatra 2021

2. Jammu State Red Zone Area (जम्मू स्टेट रेड जोन एरिया)

जम्मू राज्य के रेड जोन इलाके से आने वाले सभी यात्रियों को अपनी कोरोना टेस्ट की RTPCR Negative Report लानी होगी। तभी उन यात्रियों को यात्रा पर जाने की अनुमति मिलेगी।

3.. Online Registration (ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन)

जिन यात्रिओ ने अपना ऑनलाइन पंजीकरण कराया होगा, केवल उन्ही यात्रियों को माता वैष्णो देवी की यात्रा पर जाने की अनुमति मिलेगी। तो इस बात का आपको विशेष ध्यान रखना होगा बिना ऑनलाइन पंजीकरण कराये आप यात्रा पर नहीं जा सकते।

4. Aarogya Setu App (आरोग्य सेतु एप्लीकेशन)

माता वैष्णो देवी की यात्रा पर जाने वाले सभी तीर्थ यात्रियों के लिए अपने मोबाइल पर आरोग्य सेतु एप्लीकेशन का उपयोग करना अनिवार्य होगा।

5. Health Good (हेल्थ गुड)

यात्रा पर जाने से पहले यात्रियों को अपने स्वास्थ का अच्छे से रखना होगा ध्यान, खासी या बुखार होने पर यात्रा से रोका जा सकता है।

6. Face Mask (फेस मास्क)

माता वैष्णो देवी की यात्रा पर जाने वाले यात्री इस बात को अच्छे से जानले की वह अपने मुँह पर मास्क जरूर लगाकर रखे, कियोंकि अधिकतर ऐसा देखा जाता है की जहा पर चेकिंग होती है। वहा पर मास्क लगा लिया जाता है और बाद में मुँह से हटा दिया जाता है। आप पुरे रास्ते CCTV कैमरे की निगरानी में होंगे, मुँह पर मास्क न लगा होने पर यात्रियों का चालान हो सकता है। श्राइन बोर्ड की तरफ से मास्क को लेकर बिलकुल भी ढिलाई नहीं होगी।

Mata Vaishno Devi Yatra 2021

7. Vaishno Devi Yatra Marg (वैष्णो देवी यात्रा मार्ग)

माता वैष्णो देवी की यात्रा पर जाने के लिए यात्रियों के सामने दो मार्ग है पहला जिसमे यात्री बाणगंगा, चरन पादुका और अर्द्धकुवारी गुफा के दर्शन करते हुए सीधा माता के भवन तक जाते है जिसमे यात्री 14 km पैदल,घोड़े या पालकी से जा सकते है। वही दूसरे रास्ते से पैदल या फिर बेटरी कार से यात्रा पर जा सकता है। लेकिन इस रास्ते में बाणगंगा और चरण पादुका नहीं आती है। यह रास्ता कटरा से सीधा अर्द्धकुवारी से होते हुए माता के भवन तक जाता है।

8. Vaishno Devi Temple (माता का गर्भग्रह)

सभी यात्रियों को माता वैष्णो देवी के मुख्य गर्भग्रह में जाने से पहले साबुन से हाथ धोने होंगे और एक दूसरे से 6 फुट की दुरी बनाकर लाइन में लगना होगा और किसी भी मूर्ति को अपने हाथो से नहीं छूना होगा। तभी आप अच्छे से माता वैष्णो देवी के दर्शन कर पाएंगे।

9. Bhairavnath Pedal/Ropeway Yatra (भैरवनाथ पैदल/रोपवे यात्रा)

माता वैष्णो देवी के दर्शन करने के बाद सभी यात्रियों को भैरवनाथ के मंदिर भी जाना होता है उसमे यात्रियों के पास जाने के दो विकल्प है पहला ये की यात्री 2 km दूर पैदल यात्रा करके जाए, या फिर दूसरा रोपवे से जाए, रोपवे में एक यात्री का आने जाने का टिकट 100 का होता है लेकिन यात्रियों की अधिक भीड़ होने के कारन वहा पर बहुत समय लग सकता है। कियोंकि रोपवे की सुविधा सिर्फ सुबह 8 बजे से लेकर शाम के 6 बजे तक ही मिलती है।

10. Shrine Borad Request (श्राइन बोर्ड की अपील)

नवरात्रो के समय श्राइन बोर्ड की तरफ से अनुरोध है की 65 साल से अधिक आयु वाले बुजुर्ग व्यक्ति, गर्भवती महिलाये, कॉमरेडिटी वाले व्यक्ति,और 8 साल से कम उम्र वाले बच्चे यात्रा पर ना आये उन सभी को घर पर रहने की सलाह दी जाती है।

यह भी पढ़े – माता वैष्णो देवी की यात्रा कैसे करे

दोस्तों हम उम्मीद करते है की आपको Mata Vaishno Devi Yatra 2021 के बारे में जानकर अच्छा लगा होगा।

धार्मिक और पर्यटक स्थलो की और अधिक जानकारी के लिए आप हमारे You Tube Channel PUBLIC GUIDE TIPS को जरुर Subscribe करे। और हमारे Facebook Page “PUBLIC GUIDE TIPS” को “LIKE” और “SHARE” जरुर करे।

आप Mata Vaishno Devi Yatra 2021 की वीडियो भी देख सकते है जिसमे हमने पूरी यात्रा को विस्तार से समझाया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *