Triveni Ghat Rishikesh: दोस्तों इस लेख में आज हम आपको ऋषिकेश में स्थित त्रिवेणी घाट के बारे में बताने जा रहे है.जो ऋषिकेश की काफी प्रशिद्ध और लोकप्रिय जगह है। इसको त्रिवेणी घाट इसलिए बोला जाता है कियोकि यहां पर माँ गंगा, यमुना और सरस्वती इन तीन प्रमुख नदियों का संगम होता है। तो चलिए अब त्रिवेणी घाट की सम्पूर्ण जानकारी जानते है ।

त्रिवेणी घाट का इतिहास (History of Triveni Ghat in Hindi)

त्रिवेणी घाट उत्तराखंड राज्य के ऋषिकेश में हिमालय पर्वतो के तल में बसा एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। इस स्थान पर गंगा, यमुना और सरस्वती इन तीन प्रमुख नदियों का संगम होता है। जिसकी वजय से यह स्थल त्रिवेणी घाट के नाम से जाना जाता है। सुबह और शाम के समय में यहां गंगा आरती का अद्भुत नजारा देखने को मिलता है। जिसमे भक्तो की काफी भीड़ उमड़ती है।

ऋषिकेश में घूमने आये यात्री इस त्रिवेणी घाट के पवित्र जल में स्नान आदि कर मंदिरों के दर्शन करते है। कहते है की हरिद्वार की हर की पौड़ी में स्नान करने जितना लाभ त्रिवेणी घाट में भी मिलता है। हिन्दू धर्म की पौराणिक कथाओं में त्रिवेणी घाट एक महत्वपूर्ण स्थान माना गया है। रामायण और महाभारत के मुताबिक ऐसा कहा जाता है की भगवान श्री कृष्ण ने इस पवित्र स्थान का दौरा किया था।

यह भी पढ़े – नीलकंठ महादेव मंदिर की कहानी सीधे समुद्र मंथन से जुडी है

त्रिवेणी घाट में पितरो की पिंड पूजा (Pind worship of ancestors at Triveni Ghat in Hindi)

इस तीर्थ घाट पर भक्तगण अपने पितरो की शांति के लिए पिंड श्राद्ध की पूजा पाठ भी कराते है। पास में ही गंगा माता मंदिर है। त्रिवेणी घाट के एक तरफ भगवान शिव की जटा से निकलती गंगा की प्रतिमा है वही दूसरी और पांडव अर्जुन को गीता ज्ञान लेते हुए श्री क्रिहना की विशाल मूर्ति है। शाम के समय आरती में यह हजारो भक्तो की भीड़ उमड़ जाती है।

अगर आप ऋषिकेश में घूमने के लिए आते है तो यहां त्रिवेणी घाट के अलावा बहुत सारे धार्मिक और पर्यटक स्थल है। जैसे राम झूला, लक्ष्मा झूला, नीलकंठ महादेव मंदिर, झिलमिल गुफा, और कुंजापुरी मंदिर।

त्रिवेणी घाट ऋषिकेश कैसे पहुंचे (How to reach Triveni Ghat Rishikesh in Hindi)

त्रिवेणी घाट आने के लिए सबसे पहले आपको ऋषिकेश आना होगा, जो अद्भुत आकर्षणों से भरा एक शहर है। आप ऋषिकेश की यात्रा वायु, सड़क या ट्रैन के माध्यम द्वारा कर सकते हैं।

सड़क माध्यम (By Road) – ऋषिकेश हरिद्वार और देहरादून सड़क मार्ग से जुड़ा हुआ है. दिल्ली से लगभग 262 किलोमीटर दूर है। ऋषिकेश आने के लिए रोड ट्रांसपोर्ट रोड कारपोरेशन व निजी बसें चलती हैं।
ट्रेन माध्यम (By Train) – ऋषिकेश में एक रेलवे स्टेशन है जो सीधे हरिद्वार और देहरादून से जुड़ा हुआ है।
वायु माध्यम (By Air) – जोलीग्रांट हवाई अड्डा ऋषिकेश से लगभग 21 किलोमीटर की दूरी पर है। यहाँ पहुँचने के बाद आप टैक्सी या बस सेवा का उपयोग कर सकते हैं. जिसमे लगभग 30 मिनट का समय लग सकता है।
निजी वाहन (personal Vehicle) – आप त्रिवेणी घाट ऋषिकेश अपनी खूद की गाड़ी से भी जा सकते हैं।

यह भी पढ़े –

दोस्तों हम उम्मीद करते है कि आपको Triveni Ghat Rishikesh के बारे में पढ़कर अच्छा लगा होगा।

यदि आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आये तो हमारे फेसबुक पेज “PUBLIC GUIDE TIPS” को “LIKE” और “SHARE” जरुर करे।

पर्यटक और धार्मिक स्थलो की और अधिक जानकारी के लिए आप हमारे You Tube Channel PUBLIC GUIDE TIPS को जरुर “SUBSCRIBE” करे।

अगर आप हमे अपना कोई सुझाव देना चाहते है या यात्रा संबधित आपका कोई प्रश्न हो तो नीचे दिए कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.