Kanheri Caves History in Hindi: मुंबई शहर के बोरीवली उत्तर में स्थित कन्हेरी गुफा मुंबई के प्रशिद्ध पर्यटन स्थलों में से एक है जो की संजय गाँधी राष्ट्रीय उद्यान के परिसर में ही स्थित हैं कन्हेरी शब्द का अर्थ होता है कृष्णगिरी जो की काला पर्वत से निकला है। ये गुफाएं बौद्ध कला को दर्शाती हैं जो की समुद्रतल से लगभग 1500 फीट की ऊंचाई पर स्थित है यहां पर कुल स्तंभों की संख्या 34 है और गुफ़ा की लंबाई 86 फुट, चौड़ाई 40 फुट और ऊँचाई 50 फुट है। इन स्तंभों के ऊपर नर-नारी की काफी मूर्तियों के चित्रण को दर्शया गया है इसलिए इसकी गणना पश्चिमी भारत के बौद्ध दरी मंदिरों में की जाती है कन्हेरी गुफा मुख्य उद्यान से 6 km और बोरीवली स्टेशन से 7 km दूर हैं।

कन्हेरी गुफाओं का निर्माण (Construction of Kanheri Caves History in Hindi)

अगर हम कन्हेरी गुफाओं के निर्माण की बात करे तो इनका निर्माण दूसरी शताब्दी से लेकर 11 शताब्दी के बीच में हुआ था यानी की इन गुफाओं की जो कलाकृतियाँ है वो लगभग 2200 साल से ज्यादा पुरानी है मौर्य और कुशना सम्राटों के शासन काल के दौरान इन गुफाओं को बनवाया गया था कन्हेरी गुफाओं का निर्माण बौद्ध द्वारा किया गया था।

इसलिए इन गुफ़ाओ की कलाकृति बौद्ध कला को दर्शाती है। ऐसा बताया जाता है कि बौद्ध धर्म सबसे पहले पश्चिमी भारत के सोपान में पहुंचा जो कन्हेरी के बेहद समीप है इसीलिए इन गुफाओ में बौद्ध की कलाकृतियां मुर्तिया देखने को मिलती है।

कन्हेरी गुफाओं की सरचना (Structure of Kanheri Caves in Hindi)

अगर हम कन्हेरी गुफा की सरचना की बात करे तो ये गुफाएं बौद्ध मंदिरों की तरह काफी प्राचीन है जो की हमारी भारतीय वास्तु शैली का एक अद्भुत प्रतीक है। यहां पर एक ही पहाड़ को तराश कर लगभग 109 गुफाओं का निर्माण किया गया था जिसमे स्थानाक बुद्ध, मानुषी बुद्ध, बोधिसत्व बुद्ध आदि को प्रदर्शित किया गया है बुद्ध के कई रुपों को दर्शाने वाली ये प्रतिमाये काफी खंडित हो चुकी है।

गुफाओ की शुरुआत में ही आपको बुद्ध की कई अलग-अलग मूर्तियाँ देखने को मिलेगी जो अधकतर काफी खंडित हो गई हैं और आगे चढ़ाई करने के बाद जो गुफाये आती है वो ज्यादातर बौद्ध भिक्षुओं और साधकों के निवास स्थान जैसा प्रतीत होती है।

कन्हेरी के चारो और फैली वन संपदा और बीच में बहती जल धाराएँ और ऊपर से उठती हुई पर्वत की दीवारे है जिसमे कटी कन्हेरी की गहरी लंबी गुफ़ा जिस पर काफी मूर्तियाँ बनी हैं यह मार्ग कन्हेरी से होकर एक सोपान मार्ग के चैत्य द्वार तक जाता है यहां पर कुल स्तंभों की संख्या 34 है और गुफ़ा की लंबाई 86 फुट, चौड़ाई 40 फुट और ऊँचाई 50 फुट है। इन स्तंभों के ऊपर नर-नारी की काफी मूर्तियों के चित्रण को दर्शया गया है इसलिए इसकी गणना पश्चिमी भारत के बौद्ध दरी मंदिरों में की जाती है।

यह भी पढ़े – मुंबई में घूमने की 10 प्रमुख जगह

कन्हेरी गुफा के कुछ महत्वपूर्ण रोचक तथ्य (Some important interesting facts of Kanheri caves in Hindi)

1. कन्हेरी गुफा को देश की 15 रहस्यमयी गुफाओं में से एक माना जाता है। जो बोरीवली के उत्तर में, संजय गांधी राष्ट्रीय उद्यान के परिसर में स्थित है।

2. कन्हेरी गुफाओं को भारत सरकार द्वारा 26 मई 2009 में राष्ट्रीय महत्व का स्मारक घोषित किया गया।

3. यहां पर कन्हेरी गुफाओं की संख्या 109 है अजंता और एलोरा की गुफाओं से अधिक संख्या होने के कारन कन्हेरी गुफा की भारत की विशालतम गुफाओं में से एक मानी जाती हैं।

4. कन्हेरी गुफा को भारत के दरी मंदिरों में से एक माना जाता है ये गुफाये मुम्बई से लगभग 25 km दूर एक बौद्धों का चैत्य है।

5. कन्हेरी गुफा में भगवान बुद्ध की सबसे ऊंची मूर्ति 25 फुट की है। जो की देखने में बेहद आकर्षित लगती है।

6. कन्हेरी गुफाओ में घूमने हेतु पर्यटकों की सुविधाओं के लिए गुफाओं पर नंबर अंकित किये गए है जिससे पर्यटक को घूमने में कोई दिक्कत नहीं आती है।

7. पहाड़ों को काटकर सीढ़ियां बनाई गई है ताकि सभी पर्यटक आसानी से गुफाओं तक पहुंच सके

8. एक ही पहाड़ को काट कर बनायीं गयी ये 109 गुफाये बेसाल्ट की चट्टानो से तराशी गयी है जिनको एक सुंदर रुप दिया गया है।

9. गुफा समुद्र तल से लगभग 1500 फीट की ऊँचाई पर स्थित हैं और मुंबई से यह 40 किलोमीटर दूर है।

10. कन्हेरी गुफा की जो कलाकृतियाँ है वो बौद्ध कला को दर्शाती है।

कन्हेरी गुफाओ तक कैसे पहुंचे (How to reach Kanheri Caves in Hindi)

कन्हेरी गुफा आने के लिए आपको बोरीवली ईस्ट में संजय गांधी नेशनल पार्क आना होगा जो की आप मुंबई की किसी भी जगह से बस या टैक्सी के माध्यम से काफी आराम से आ सकते है संजय गांधी नेशनल पार्क से कन्हेरी गुफाओं की दूरी 7 किलोमीटर है कन्हेरी गुफाओं की देख रेख भारत सरकार पुरातत्व सर्वेक्षण के हवाले है।

कन्हेरी गुफा का पता, टिकट और समय  (Kanheri cave address, ticket and time)

कन्हेरी गुफा का पता – संजय गाँधी नेशनल पार्क, बोरीवली ईस्ट, मुंबई, महाराष्ट्र –  600066

प्रवेश टिकट – इंडियन : 5 रूपये प्रति व्यक्ति, फॉर्नर : 100 रूपये प्रति व्यक्ति घूमने का समय – सुबह 7:30 से शाम 5:30 तक

हम उम्मीद करते है कि आपको Kanheri Caves History in Hindi के बारे में पढ़कर अच्छा लगा होगा।

धार्मिक और पर्यटक स्थलो की और अधिक जानकारी के लिए आप हमारे You Tube Channel PUBLIC GUIDE TIPS को जरुर “SUBSCRIBE” करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.