कावड़ यात्रा 2021, हरिद्वार कावड़ यात्रा, कब से शुरू होगी, कब खत्म होगी,कावड़ यात्रा गाइडलाइन्स (Kawad Yatra 2021 Ban in Hindi)

कावड़ यात्रा 2021, हरिद्वार सावन के महीने में कावड़ मेले की चका चौंद से नारंगी रंग के कपडे पहने कावड़िये हर हर महादेव के नारे लगाते पैदल चले जाते है। और हर की पौड़ी से गंगा जल लेकर अपने कर्तव्य स्थान तक पहुंचते है शिवरात्रि वाले दिन उस गंगा जल से भगवान शंकर के शिवलिंग का जल अभिषेक करते है। और बाद में अपने घर की तरफ रवाना हो जाते है।

नमस्कार दोस्तों आज के इस लेख में आपको कावड़ यात्रा 2021 हरिद्वार के बारे में पूरी जानकारी देने वाले है। क्या 2021 में कावड़ यात्रा होगी या नहीं, अगर होगी तो किन-किन बातो का विशेष ध्यान आपको रखना होगा, क्या दूसरे राज्यों से कावड़िये जल लेने के लिए हरिद्वार आ सकते है। इन सभी जानकारी को जानने के लिए इस लेख को अंत तक जरूर पढ़े।

Kawad Yatra 2021 Ban in Hindi | 25 जुलाई से 06 अगस्त तक होनी है कावड़ यात्रा?
                                                              Kawad Yatra 2021 Ban in Hindi

हरिद्वार की कावड़ यात्रा (Haridwar Kawad Yatra 2021 in Hindi)

उत्तराखंड राज्य में कावड़ यात्रा के इस मेले को बड़ी श्रद्धा के साथ हर हर महादेव का नाम लेकर मनाया जाता है। लेकिन जैसा की आप सभी जानते है की कोरोना काल के चलते पिछले साल यानी 2020 में इस कावड़ यात्रा को स्थगित कर दिया गया था। जिस कारन भोले भक्तो को बड़ी निराशा का सामना करना पड़ा था। वही इस साल 25 जुलाई 2021 से कांवड़ यात्रा शुरू होनी है लेकिन उत्तराखंड सरकार की तरफ से कावड़ यात्रा को लेकर अभी तक कोई भी ठोस निर्णय नहीं लिया है।

हरिद्वार कावड़ यात्रा को लेकर उत्तराखंड के डीजीपी अशोक कुमार ने निकट के सात राज्यों के पुलिस अधिकारियों के साथ वीडियो कोंफ्रेस्न्स मीटिंग की और फ़िलहाल इस यात्रा पर प्रतिबंध लगाया है। उन्होंने साफ़ साफ़ बोला है की अगर कोई भी कावड़िया दूसरे राज्य से उत्तराखंड में आता है तो उसे 14 दिनों के लिए क्वारंटीन कर उस पर मुकदमा भी दर्ज किया जा सकता है। क्योकि जिस तरह से हरिद्वार महाकुम्भ 2021 में चूक हुई है उस गलती को अब दोबारा नहीं दोहराना है।

Kawad Yatra 2021 Ban in Hindi | 25 जुलाई से 06 अगस्त तक होनी है कावड़ यात्रा?

यह भी पढ़े – कावड़ यात्रा कब से शुरू होगी 2021

कावड़ यात्रा गाइडलाइन्स (Kawad Yatra 2021 Guidelines in Hindi)

कावड़ यात्रा की New Guidelines को लेकर सभी राज्यों के थाना स्तर पर कावड़ समितियों के साथ पुलिस प्रशाषन के अधिकारियो ने बैठक की। और उन्हें कानून व्यवस्था के तहत कहा की जो भी यात्री हरिद्वार की सीमा में प्रवेश करेगा। उसे कोरोना की New Guidelines का पालन करना होगा। लेकिन फ़िलहाल की जो मीटिंग हुई है उसमे डीजीपी ने कावड़ यात्रा पर प्रतिबंद लगाया है। और ये भी कहा है की अभी 25 जुलाई में काफी समय है कावड़ यात्रा को लेकर एक बार फिर से निकट राज्यों के पुलिस अधिकारी के साथ बैठक होगी। उसमे जो भी अंतिम निर्णय लिया जायेगा तो न्यूज़ मीडिया के माध्यम से सभी को अवगत करा दिया जायेगा।

Kawad Yatra 2021 Ban in Hindi | 25 जुलाई से 06 अगस्त तक होनी है कावड़ यात्रा?

कावड़ यात्रा 2021 प्रारंभ और समाप्ति तिथि (Kawad Yatra 2021 Start and End Date in Hindi)

इस साल की कावड़ यात्रा 25 जुलाई 2021 से शुरू होनी है और शिवरात्रि वाले दिन 06 अगस्त 2021 को समाप्त होनी है। इस यात्रा में हर साल लाखो शिव भक्त शामिल होते थे और बड़े उत्साह के साथ हर की पौड़ी हरिद्वार से जल लेकर अपने कर्तव्य स्थान तक पहुंचते थे। कोई पैदल चल कर इस यात्रा को पूरा करता था तो कोई जमींन पर लेटकर इस यात्रा को पूरा करता था। कावड़ यात्रा को लेकर अभी तक उत्तराखंड सरकार की तरफ से कोई भी बड़ा निर्णय नहीं लिया गया है।

Kawad Yatra 2021 Ban in Hindi | 25 जुलाई से 06 अगस्त तक होनी है कावड़ यात्रा?

सावन शिरात्रि 2021 (Savan Shivratri 2021 in Hindi)

वैसे तो सावन के पुरे महीने भगवान शिव के शिवालयों में आपको भीड़ देखने को मिल जाएगी लेकिन जिस दिन शिवरात्रि होती है। उस दिन का नजारा कुछ अलग ही होता है। भोले के जय कारो के साथ नारंगी कपडे पहने हुए शिव भक्त अपनी कावड़ यात्रा को काफी समय पहले ही शुरू कर देते है और शिवरात्रि तक अपने इस कर्तव्य को पूरा करते है। और शिवरात्रि वाले दिन भगवान शिव के शिवलिंग पर जल अभिषेक करते है। भक्तो की श्रद्धा और विश्वाश को महादेव हमेशा बनाये रखते है कहते है की सावन के महीने में जो भी भक्त व्रत रखता है भोले नाथ उसकी इच्छा शीग्र ही पूरा करते है।

यह भी पढ़े – कावड़ कितने प्रकार की होती है, यात्रा को कैसे करे?

कावड़ यात्रा 2021 होगी या नहीं (Kavad Yatra 2021 will happen or not in Hindi)

देखिये कावड़ यात्रा 2021 के विषय में अभी कुछ कहा नहीं जा सकता जिस तरफ से उत्तराखंड सरकार अपने नियम बना रही है फ़िलहाल तो ऐसा लगता है की कावड़ यात्रा पर प्रतिबंद लग सकता है। और अगर कोरोना के हिसाब से देखे तो अब कोरोना के मरीजों की संख्या उत्तराखंड में दिन पर दिन कम होती जा रही है। अभी कावड़ यात्रा शुरू होने में दो हफ्ते बाकि है जब तक कोरोना की क्या स्थति रहे सरकार इस पर जरूर चर्चा करेगी। और अगर कावड़ यात्रा हुई तो कोरोना के जो भी रूल होंगे उनको फॉलो करना पड़ेगा।

कावड़ यात्रा 2021 जल तिथि (Kawad yatra 2021 Jal Date in Hindi)

सावन की हर शिवरात्रि के दिन भगवान शिव को गंगा जल से अभिषेक किया जाता है इस साल शिवरात्रि 06 अगस्त 2021 को है उस दिन जल चढ़ेगा। ऐसी मन्यता है की साल में अगर आप शिवरात्रि वाले दिन भगवान शिव को जल चढ़ाते है तो आपका पुरे साल का जल स्वीकार कर लिया जाता है।

कोरोना के चलते कावड़ यात्रा 2021 पर लगा प्रतिबंद (Kavad Yatra 2021 banned due to Corona in Hindi)

भोले के प्यारे भक्तो ये बात बिलकुल सही है की फिलहाल उत्तराखंड सरकार ने कावड़ यात्रा 2021 पर रोक लगा दी है जैसे की
पिछले साल 15 मार्च को उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण का सबसे पहला केस सामने आया था। और फिर धीरे धीरे प्रदेश में काफी केस बढ़ गए थे जिसके चलते उत्तराखंड सरकार ने कांवड़ यात्रा 2020 को स्थगित कर दिया था। और हरिद्वार से गंगा जल भरकर बाहरी राज्यों को दिया था ताकि दूसरे राज्यों के शिव भक्त गंगा जल से शिव जी का जल अभिषेक कर सके। वही अभी तक कावड़ यात्रा 2021 को लेकर सरकार ने कोई कठोर फैसला नहीं लिया है।

यह भी पढ़े – शिमला के 10 प्रमुख पर्यटन स्थल​ जरूर घूमने जाये

दोस्तों हम जानते है की आपको Kawad Yatra 2021 Ban in Hindi के बारे में जानकारी जानकर अच्छा नहीं लगा होगा। क्योकि शिव के भक्त पुरे दो साल से कावड़ यात्रा को लेकर काफी निराश है जैसे ही कोई कावड़ यात्रा 2021 को लेकर New Guidelines आती है तो आपको सबसे पहले सूचित किया जायेगा।

पर्यटक और धार्मिक स्थलो की और अधिक जानकारी के लिए आप हमारे You Tube Channel PUBLIC GUIDE TIPS को जरुर “SUBSCRIBE” करे।

अगर आप हमे अपना कोई सुझाव देना चाहते है या यात्रा संबधित आपका कोई प्रश्न हो तो नीचे दिए कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.